उत्तराखंड में हर जगह सुनाई दिया “100 दिन सरकार के-100 दिन विकास के” नारा

उत्तराखंड में हर जगह सुनाई दिया “100 दिन सरकार के-100 दिन विकास के” नारा

देहरादून | सरकार के 100 दिन पूर्ण होने के अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को परेड ग्राउण्ड देहरादून में आयोजित एक राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सूचना एवं लोक संपर्क विभाग द्वारा प्रकाशित विकास पुस्तिका ‘‘100 दिन सरकार के-100 दिन विकास के’’ का विमोचन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी। श्री रावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार जनता से किये वायदों को पूरा करने की दिशा में कार्य कर रही है। जो वायदे हमने जनता से किये थे, उन्हें पूरा करने की दिशा में कार्य कर रहे हैं। श्री रावत ने इस अवसर पर घोषणा की पलायन को रोकने के लिए एक आयोग का गठन किया जायेगा। इसके साथ ही राज्य स्तरीय सैन्य स्मारक का निर्माण भी राज्य सरकार द्वारा स्वयं किया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य के विकास के लिए उनकी सरकार ठोस रोडमैप तैयार करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने इन 100 दिन में राज्य के विकास को दिशा देने के लिए कुछ निर्णय लिये है, जिनके दूरगामी परिणाम सामने आयेंगे। केन्द्र सरकार का पूरा सहयोग राज्य को मिल रहा है और अब डबल इंजन का फायदा जल्द ही लोगो को दिखने लगेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने विकास पुस्तिका के माध्यम से अपनी अपनी सरकारी प्रमुख योजनाओं की संक्षिप्त जानकारी दी। जिनमें प्रमुख रूप से कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, लोक निर्माण, पेयजल आदि क्षेत्रों में शुरू की जा रही योजनाओं का विवरण दिया गया है।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि उनकी सरकार का फोकस भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लगाना है, जिस दिशा में वे कामयाब हुए है। इसके साथ ही सरकार ने भर्ती प्रक्रियों को पारदर्शी ढंग से आयोजित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि हमारी सरकार ने अहम निर्णय लिया है, जिसमें किसानों को 1 लाख रुपये तक का ऋण 2 प्रतिशत ब्याज पर दिया जायेगा। जबकि आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए मानक में भी परिवर्तन किया गया है। अब न्याय पंचायत को मानक माना जायेगा और 33 प्रतिशत तक आपदा के कारण खेती को नुकसान होने पर किसानों को मुआवजा मिल सकेगा। पहले यह मानक तहसील स्तर का होता था। इस वर्ष के लिये एक हजार से अधिक पटवारियों की नियुक्ति करने का निर्णय लिया गया है। श्री रावत ने कहा कि उनकी सरकार किसानों के हित में हर संभव कदम उठा रही है। प्रदेश के विकास को एक नई दिशा देने के लिए रोडमैप तैयार किया गया है।

इससे पूर्व कार्यक्रम को केन्द्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा द्वारा सम्बोधित किया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार राज्य को पूरा सहयोग देगा। राज्य में पर्यटन से संबंधित योजनाओं के लिए धन की कमी को आड़े नही आने दिया जायेगा। केन्द्र सरकार ने देशभर के कुछ शहरों का चयन किया गया, जिन्हें पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जायेगा, इस श्रेणी में हरिद्वार जनपद का भी चयन किया गया है।

केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा ने कहा कि राज्य सरकार श्री रावत के नेतृत्व में अच्छा कार्य कर रही है। पर्वतीय क्षेत्रों के विकास के लिए एक विजन लेकर कार्य किया जा रहा है, जिसके लिए राज्य सरकार बधाई की पात्र है।

कार्यक्रम को पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद श्री भगत सिंह कोश्यारी, कैबिनेट मंत्री श्री प्रकाश पंत, श्री मदन कौशिक, प्रदेश प्रभारी श्री श्याम जाजू, प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय भट्ट आदि ने भी सम्बोधित किया।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज, श्री हरक सिंह रावत, श्री यशपाल आर्य, श्री अरविन्द पांडेय, श्री सुबोध उनियाल, श्री धन सिंह रावत, विधायक एवं राष्ट्रीय सचिव श्री तीरथ सिंह रावत, विधायक श्री मुन्ना सिंह चैहान, श्री विनोद चमोली, श्री गणेश जोशी, श्री सहदेव पुंडीर, श्री विशन सिंह चुफाल, भाजपा नेता श्री नरेश बंसल, श्री उमेश अग्रवाल, श्री सुनील गामा आदि उपस्थित थे।