मुख्यमंत्री ने 42वें कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेला-2017 का किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने 42वें कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेला-2017 का किया उद्घाटन

नरेन्द्रनगर | मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरूवार को रामलीला मैदान, नरेन्द्र नगर, टिहरी में 42वें कुंजापुरी पर्यटन एवं विकास मेला-2017 का उद्घाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने नरेन्द्रनगर में आॅडिटोरियम निर्माण, पुल्ड हाउस, सामुदायिक भवन, बस अडडा निर्माण, सीवर लाईन निर्माण, डालवाला में चन्द्रभागा नदी बाढ सुरक्षा बाॅध, संयुक्त चिकित्सालय में आईसीयू, अल्ट्रासाउण्ड, खाडी मे महाविद्यालय, कुंजापूरी को रोजवेज से जोडना, मुनि की रेती में मल्टी पार्किंग निर्माण, पीटीसी नरेन्द्रनगर से बडैडा-कुंजापुरी मोटर मार्ग, भौस्यारा मोटर मार्ग का डामरीकरण, मुनिकीरेती में ट्रंचिंग ग्राउण्ड बनाने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि नेशनल प्लास्टिक टैक्नोलाॅजी संस्थान तथा नेशनल फैशन डिजाईनिंग संस्थान, रानीपौखरी आगामी दो माह में कार्य करना प्रारम्भ कर देगा। इसके अलावा सरकार हाॅस्पिटेलिटी विश्वविद्यालय भी खोलने जा रही है। ये संस्थान स्थानीय बैरोजगार युवाओं को स्किल डेवलपमेंट के साथ ही आय बढाने के संसाधनों के रुप में विकसित किये जायेंगे। उन्होने कहा कि पहाड से पलायन के मुख्य रुप से तीन कारण है जिसमें शिक्षा, बेरोजगारी तथा स्वास्थ्य सेवा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा ग्रामीण विकास एवं पलायन आयोग का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के थाना क्षेत्रों में होने वाली आकस्मिक घटनाओं के लिए 156 थानों के लिए 3 करोड रुपये की धनराषि स्वीकृत की गयी है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि सरकार पिरुल को भी रोजगार का साधन बनाने जा रही है। पिरूल से बायो आॅयल एवं बायो फ्यूल बनाया जायेगा। इसके अलावा सरकार प्रदेश में ईको टास्क फोर्स बनाने जा रही है, जिसमें 200 पूर्व सैनिकों को रोजगार से जोडा जायेगा तथा भारतीय सेना द्वारा 4 लाख अखरोट के पौधों की नर्सरी तैयार की गई है, जिनको ईको टास्क फोर्स के माध्यम से सीमांत गाॅवों में पंहचाया जायेगा। उन्होने कहा कि सरकार ने राज्य की न्याय पंचायतों को सडकों से जोडा है, जिन्हें नये टाउनशिप के रुप में विकसित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने विभिन्न शिक्षण संस्थाओं तथा विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का भी उद्घाटन किया।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री श्री सुबोध उनियाल ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भेंट किया। श्री उनियाल ने नरेन्द्रनगर क्षेत्र के विकास के लिए मांग पत्र भी मुख्यमंत्री को सौंपा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने परिषदीय परीक्षाओं में अव्वल स्थान प्राप्त करने वाले हाईस्कूल व इण्टर के 6 छात्रों को भी सम्मानित किया। हंस फाउण्डेशन की ओर से मेले के आयोजन हेतु 1 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की गई।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कुंजापुरी मंन्दिर पहुंचकर पूजा-अर्चना भी की। उन्होंने कहा कि शारदीय नवरात्रों का महत्व हिन्दु धार्मिक परम्पराओं में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। उन्होने माॅ कुंजापुरी से प्रदेश की प्रगति के साथ-साथ जन कल्याण की भी कामना की है।

इस अवसर पर विधायक श्री शक्ति लाल शाह, श्री दिलीप रावत, जिलाधिकारी सोनिका, एसएसपी श्री बरिन्दर जीत सिंह सहित स्थानीय जनता व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।