हमला कर पाकिस्तानी कैदी को छुड़ा ले गए आतंकी, दो पुलिसकर्मी शहीद

हमला कर पाकिस्तानी कैदी को छुड़ा ले गए आतंकी, दो पुलिसकर्मी शहीद

आतंकियों ने गिरफ्तार किए गए पाकिस्तानी आतंकी नावेद को छुड़ाने के लिए श्रीनगर में अस्पताल पर हमला कर दिया।

श्रीनगर के महाराजा हरि सिंह अस्पताल में आतंकियों ने गिरफ्तार किए गए पाकिस्तानी आतंकी नावेद को छुड़ाने के लिए आज हमला कर दिया। हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए। इस बीच, नावेद भी पुलिस की गिरफ्त से भागने में सफल रहा। सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र को घेर तलाशी अभियान चलाया है। घटना सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे की है।

जानकारी के मुताबिक, कुछ पुलिस के जवान सेंट्रल जेल से छह कैदियों को जांच के लिए एसएमएचएस अस्पताल की इमरजेंसी में लाए थे। इनमें दो आतंकी भी शामिल थे। अचानक गोलियां चलने की आवाज हुई, जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। इस दौरान एक की अस्पताल में मौत हो गई। बाद में दूसरे पुलिसकर्मी की भी मौत हो गई।





अबु हंजुला उर्फ नवीद।

साल 2015 में पुलिस ने लश्कर के आतंकी नावेद उर्फ अबु हंजुला को हिरासत में लिया था। मंगलवार को पुलिस उसे जांच के लिए लाई थी। वहां पर पहले से ही दो से तीन आतंकी छुपे हुए थे, जो कि उसे छुड़ाने के लिए आए हुए थे। उन्होंने पुलिस कर्मियों पर गोलीबारी शुरू कर दी। वहीं, नावेद ने पुलिस कर्मी से ही उसकी राइफल छीन ली और गोली चलाकर भाग गया। जब तक पुलिस संभल पाती, गिरफ्तार आतंकी नावेद और हमलावर आतंकी वहां से भाग गए।

वहीं, सुरक्षाबलों ने पूरे अस्पताल को घेरे में ले लिया है और तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। पुलिस को शक है कि फरार आतंकी इसी क्षेत्र में हो सकते हैं। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, फरार नावेद लश्कर के वसीम गुट का है और 2014 के चुनावों में नागबल में उसने एक शिक्षक की हत्या भी की थी। उसने एक एएसआई की भी हत्या की थी। वह अन्य कई हमलों में भी शामिल था।

इससे पहले आतंकियों ने सोमवार देर शाम को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के ककपोरा क्षेत्र में सेना के कैंप पर ग्रेनेड हमला किया। हालांकि हमले में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है। सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र को घेर कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। यह घटना सोमवार रात को करीब साढ़े आठ बजे की है। आतंकियों ने ककपोरा स्थित सेना की 50 आरआर के कैंप पर ग्रेनेड फेंका।

ग्रेनेड की आवाज सुनते ही सेना ने भी हवा में गोलियां चलाई और पूरे क्षेत्र को घेर लिया। फिलहाल इस हमले में किसी भी प्रकार के नुकसान की कोई जानकारी नहीं है। एसएसपी पुलवामा मोहम्मद असलम चौधरी के अनुसार सेना के कैंप के पास कुछ आवाज सुनाई दी थी। गोलियां चलने की भी आवाज आई। इसकी जांच की जा रही है। हमलावरों को पकड़ने के लिए क्षेत्र को घेर लिया है।





इधर, दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के हाऊरा-मिशपोरा इलाकों में सुरक्षाबलों की फायरिंग में एक युवक घायल हो गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। यह घटना सोमवार सुबह उस समय घटी जब सेना की 10वीं गढ़वाल रेजीमेंट ने घेराव कर घर-घर तलाशी अभियान शुरू कर दिया। इस बीच, युवकों ने उनकी हूटिंग करते हुए उन पर पथराव किया। पत्थरबाजों को रोकने के लिए सेना को गोली चलानी पड़ी, जिसमें 20 वर्षीय आरिफ अहमद लोन पुत्र अब्दुल रशीद निवासी हाऊरा, कुलगाम घायल हो गया।

आरिफ को पहले जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया। इस घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव फैल गया। तमाम व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हो गए और लोग सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने लगे। क्षेत्र में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई थी। पुलिस ने इस मामले में एफआइआर दर्ज कर ली है। आइजी कश्मीर मुनीर खान का कहना है कि इसमें किसी के खिलाफ नहीं बल्कि घटना के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इधर, सेना प्रवक्ता ने कहा कि वह मामले की छानबीन कर रहे हैं।