योगी आदित्यनाथ ने कहा- मैं ढोंग नहीं कर सकता, हिंदू ही असली सेक्युलर

योगी आदित्यनाथ ने कहा- मैं ढोंग नहीं कर सकता, हिंदू ही असली सेक्युलर


मैं विपक्ष की तरह ढोंग नहीं कर सकता। मैं मुख्यमंत्री हूं तो मेरी यह जिम्मेदारी है कि प्रदेश में हर त्योहार शांतिपूर्ण व सुरक्षित ढंग से कानून के दायरे में मनाया जाए।


लखनऊ । उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार के एक वर्ष पूरा होने की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दैनिक जागरण के संपादक मंडल से मुलाकात में योगी ने हर सवालों के जवाब सिलसिलेवार और खुशगवार अंदाज में दिए। वह विकास के साथ ही प्रदेश के हर वर्ग के लिए सरकार की योजना के साथ ही व्यक्तिगत हमले पर भी खूब बोले।

यह संयोग ही था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिस दिन अपनी सरकार का एक साल पूरा किया, वह चैत्र प्रतिपदा नवसंवत्सर का पहला दिन भी था। उन्हें यह कहने में कोई संकोच नहीं था कि हिंदू से अधिक सेक्युलर कोई नहीं और यह स्वीकारने में भी कोई हिचक नहीं थी कि आस्था के नाम पर वह आडंबर नहीं कर सकते।

  • मुख्यमंत्री होते हुए आपने विधानसभा में कहा है कि आप ईद नहीं मनाते हैं?

-मैं विपक्ष की तरह ढोंग नहीं कर सकता। मैं मुख्यमंत्री हूं तो मेरी यह जिम्मेदारी है कि प्रदेश में हर त्योहार शांतिपूर्ण व सुरक्षित ढंग से कानून के दायरे में मनाया जाए। मैं उन लोगों में से नहीं हूं जो घर में माथे पर टीका लगाकर हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं और घर से बाहर निकलने पर टीका पोछकर सिर पर टोपी लगा लेते हैं।

मैं हिंदू  हूं और गर्व से यह कहता हूं कि हिंदू उपासना पद्धति में मेरी आस्था है। यदि सेक्युलरिज्म का मतलब भारत की सांस्कृतिक विरासत को गाली देना है तो ऐसा सेक्युलरिज्म मुझे अस्वीकार है। मेरा यह भी मानना है कि हिंदू धर्म ही सेक्यूलरिज्म का पर्याय है। हिंदू ही असली सेक्युलर है।

  • विपक्ष का आरोप है कि एक साल में सरकार ने धार्मिक गतिविधियों पर ही सबसे ज्यादा फोकस किया और विकास की अनदेखी हुई। विकास के नाम पर पिछली सरकार के कामकाज का श्रेय लिया गया। इस पर क्या कहेंगे?

– हमारी सरकार के एक साल के कार्यकाल में प्रदेश में नौ लाख प्रधानमंत्री आवास (ग्रामीण) बनाये गए जिन्हें हम लाभार्थियों को 31 मार्च तक उपलब्ध करा देंगे। हमने एक लाख किमी सड़कों को गड्ढामुक्त किया। किसने पैदा किये थे यह गड्ढे? प्रदेश के 55 हजार मजरों का विद्युतीकरण हमने किया। 32 लाख से अधिक गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिलाए। प्रदेश के 36 लाख जरूरतमंद परिवारों के पास राशन कार्ड नहीं थे, उन्हें हमारी सरकार ने पात्र गृहस्थी राशन कार्ड मुहैया कराए। इसके अलावा एक लाख अत्यंत दीनहीन परिवारों को अंत्योदय कार्ड दिलवाए।

  • शिया-सुन्नी वक्फ बोर्ड के घोटाले की बड़ी-बड़ी बातें तो हुई लेकिन जांच आज तक क्यों नहीं शुरू हो सकी? आजम खान पर भी आरोप है लेकिन उनकी जांच करने से अफसर भी इन्कार कर देते हैं?

– कुछ जांच सीबीआइ के पास है। कुछ जांच स्थानीय स्तर पर भी चल रही हैं। कोई भी दोषी मिलेगा तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। कठोर से कठोर कार्रवाई होगी।

  • मथुरा-वृंदावन के लिए तीर्थ विकास परिषद का गठन किया गया परंतु अभी तक प्रभावी कार्रवाई नहीं हो सकी?

-ऐसा नहीं है। बृज तीर्थ विकास परिषद अध्यक्ष के पद पर शैलजाकांत मिश्र की तैनाती हो चुकी है। परिषद के नियंत्रण में होली उत्सव का आयोजन किया गया। क्षेत्रीय विकास की विस्तृत योजना तैयार है, कई कार्यो में शुरूआत भी हो चुकी है। इसके सुपरिणाम जल्दी देखने को मिलेंगे।