उत्तराखंड में फिल्मों की शूटिंग होगी मुफ्त

उत्तराखंड में फिल्मों की शूटिंग होगी मुफ्त


उत्तराखंड में फिल्मों के लिए कोई शूटिंग शुल्क नहीं लिया जाएगा। यदि पहले से ही कोई प्रवेश, पार्किंग या अन्य कोई शुल्क निर्धारित हो तो फिल्म निर्माताओं को उसे वहन करना पड़ेगा।


देहरादून: उत्तराखंड में अब बनने वाली फिल्मों के लिए कोई शूटिंग शुल्क नहीं लिया जाएगा। शूटिंग स्थल पर यदि पहले से ही कोई प्रवेश, पार्किंग या अन्य कोई शुल्क निर्धारित हो तो फिल्म निर्माताओं को उसे वहन करना पड़ेगा।

बुधवार को प्रदेश में होने वाली फिल्मों की शूटिंग से शूटिंग शुल्क न लेने संबंधी शासनादेश जारी किया गया। इसके लिए उत्तराखंड फिल्म नीति-2015 में संशोधन किया गया है। फिल्म नीति में पहले क्षेत्रीय भाषा व बोली में बनने वाली फिल्मों की शूटिंग के लिए एकमुश्त 15 हजार रुपये प्रतिमाह तथा अन्य फिल्मों के लिए प्रतिदिन 10 हजार रुपये का शुल्क निर्धारित था।



अब इसमें बदलाव किया गया है। सूचना एवं लोक संपर्क विभाग की ओर से बुधवार को जारी निर्देशों में यह साफ किया गया है कि सिंगल विंडो सिस्टम के अतिरिक्त कोई अन्य शुल्क नहीं लिया जाएगा। दरअसल, प्रदेश सरकार ने कुछ समय पहले ही कैबिनेट में यह निर्णय लिया था। तब मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा था कि प्रदेश में शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया गया है।

शूटिंग के लिए बाहर से टीमों के आने पर शूटिंग स्थल के आसपास के लोगों को रोजगार मिलता है। शुल्क माफ करने से अधिक संख्या में लोग यहां आने को प्रेरित होंगे और यहां के लोगों के सामने भी रोजगार के अतिरिक्त अवसर पैदा होंगे।