अंधेरे में डूबे रहे 209 गांव, पेयजल आपूर्ति भी रही ठप

अंधेरे में डूबे रहे 209 गांव, पेयजल आपूर्ति भी रही ठप


टिहरी जिले में शनिवार को विद्युत लाइन में फॉल्ट आने के कारण 209 गांव पूरी तरह से अंधेरे में डूबे रहे। साथ ही पानी की आपूर्ति भी ठप रही।


टिहरीदेवप्रयाग नगर सहित 209 गांव बीती रात अंधेरे में डूबे रहे। विद्युत् आपूर्ति ठप्प रहने से जन-जीवन प्रभावित रहा। साथ ही बिजली जाने से गांवों की जलापूर्ति पर भी असर पड़ा।

श्रीनगर 33 केवी विद्युत लाइन में अचानक फॉल्ट आने से विद्युत आपूर्ति ठप्प पड़ गई। ऊर्जा निगम कर्मियों ने मुल्यांगांव से पाली पुलिया तक की नौ किमी बिजली लाइन में आए फॉल्ट को ढूढ़ना शुरू किया। मगर डिग्री कॉलेज के पास चट्टान टूटने के कारण विद्युत विभाग की टीम  फॉल्ट का पता लगाने आगे नही बढ़ पायी। जिसके चलते देवप्रयाग नगर सहित टिहरी पौडी जिले के 209 गांव पूरी रात अंधेरे में डूबे रहे।

टिहरी जिले के चाका, भरपूर, आमणि और पौड़ी जिले के सबदरखाल, डांडा नागराजा के लोगों को अंधेरे में रात काटनी पड़ी। इसके साथ ही बगवान, भरपूर, कोट पेयजल योजनाओं से पम्पिंग न होने पर गांवों में पेयजल आपूर्ति भी प्रभवित हुई।

मुल्यांगांव और पाली पुलिया के बीच तेज आंधी से शनिवार को भारी पेड़ बिजली लाइन पर गिर गया था। जिसके कारण पूरे क्षेत्र की विधुत आपूर्ति बाधित हो गई। अंधेरे के चलते शनिवार को क्षेत्र में हुई बड़ी वाहन दुर्घटना के राहत कार्यों में पुलिस को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।